spot_img
spot_img

एमसीसी ने कहा “मांकडींग” करने वाले गेंदबाज नहीं, आउट होने वाले बल्लेबाज हैं “खलनायक”: एमसीसी

क्रिकेटवॉच का ग्रुप अभी ज्वाइन करें
Join Now
क्रिकेटवॉच का ग्रुप ज्वाइन करें
Join Now
Deepti Sharma Mankading Charlie Dean
Image Source : Social Source
मेलबर्न क्रिकेट क्लब की विश्व क्रिकेट समिति ने कहा कि नॉन-स्ट्राइकर छोर पर रन चुराने की कोशिश में किसी बल्लेबाज को क्रीज से आगे निकलने पर ‘रन आउट’ (मानकड़ीग) करने के लिए किसी भी गेंदबाज को ‘खलनायक’ नहीं कहा जा सकता है।

WCC ने विवादास्पद मुद्दे पर लोगों से संयम बनाने को भी खा है क्योंकि कुछ पूर्व क्रिकेटरों का अब भी मानना है कि ICC (अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के नियमों के बावजूद किसी बल्लेबाज को रन आउट करना खेल भावना के खिलाफ है । क्रिकेट के कानून निर्माता एमसीसी ने पिछले महीने ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर एडम ज़म्पा द्वारा बिग बैश लीग मैच में नॉन-स्ट्राइकर एंड पर टॉम रोजर्स को रन आउट करने का प्रयास करने के बाद नियम के शब्दों पर स्पष्टीकरण भी जारी किया था।

इस स्पष्टीकरण में बेहतर स्पष्टता प्रदान करने और गलतफहमियों को दूर करने के लिए नियम 38.3 के शब्दों में बदलाव शामिल था। WCC में कुमार संगकारा, सौरव गांगुली, जस्टिन लैंगर, एलिस्टेयर कुक जैसे खिलाड़ी हैं जिनके अध्यक्ष माइक गैटिंग हैं। डब्ल्यूसीसी की पिछले सप्ताह दुबई में आईसीसी मुख्यालय में बैठक हुई थी और अब खेल के सभी स्तरों पर (मनोरंजन क्रिकेट से एलीट स्तर तक) इस नियम को अपनाने के बारे में शांति से बात कर रही है क्योंकि अगर नॉन-स्ट्राइकर क्रीज से आगे खड़ा होता है नियमों के तहत गेंदबाज को उसे रन आउट करने का अधिकार है, और नियमों के तहत ये सही भी है, इसमें गेंदबाज को खलनायक नही माना जा सकता है।

एमसीसी ने गुरुवार को एक बयान में कहा, “इस तरह के आउट करने के तरीके से बचने और किसी भी विवाद को उत्पन्न करने से बचने का सबसे आसान तरीका ये है की नॉन स्ट्राइक पे खड़ा बल्लेबाज krij से तब तक बाहर न निकले जब तक की गेंदबाज अपना बॉलिंग एक्शन पूरा न कर ले, क्योंकि पहले बाहर निकल कर बल्लेबाज अतिरिक्त फायदा उठाना चाहता है तो ऐसे में होने वाले नुकसान के लिए भी उसे तैयार रहना चाहिए। ,

इसके मुताबिक, ‘दुबई में चर्चा में यह मुद्दा भी आया था कि इस तरह आउट होने पर गेंदबाज की आलोचना की जाती है। समिति के सभी सदस्य इस बात पर एकमत थे कि जो बल्लेबाज खेल के नियमों को तोड़कर क्रीज पर अपनी जगह से आगे खड़ा होता है, वह दोषी है। ,

बयान में कहा गया, “उन्होंने इस बात पर भी सहमति जताई कि गेंदबाज को बल्लेबाज को कोई चेतावनी देने की जरूरत नहीं है, यह पुष्टि करते हुए कहा कि उसके पास एक ही समय में इस तरह से बल्लेबाज को आउट करने का अधिकार है।” महान श्रीलंकाई क्रिकेटर संगकारा ने कहा, “गेंदबाज यहां ‘खलनायक’ नहीं है।” प्रत्येक बल्लेबाज के पास अपनी क्रीज के अंदर रहने या आगे बढ़ने की कोशिश करने पर रन आउट होने का जोखिम उठाने का विकल्प होता है। अगर वह अपनी क्रीज से बाहर रहता है, तो वह नियम तोड़ने वाला होता है। ” ( मीडिया रिपोर्ट्स)

क्रिकेटवॉच का ग्रुप ज्वाइन करें
Join Now
अभिषेक कुमार
अभिषेक कुमारhttps://cricketwatch.co.in
नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम अभिषेक कुमार है और मैं बचपन से ही क्रिकेट के तरफ काफी आकर्षित रहा हूँ और उसी पैशन को मैं इस वेबसाइट के माध्यम से आप सभी तक पहुँचाने का प्रयास कर रहा हूँ। आशा करता हूँ की आपको मेरे वेबसाइट पे उपयोगी, रोचक और बेहतरीन जानकारियां मिली होंगी। cricketwatch | क्रिकेटवॉच

Related Articles

हॉट पिक्स

- Advertisement - spot_img

Latest Articles