spot_img
spot_img

अपने लिए एक परफेक्ट बैट कैसे चुने | How to choose a perfect bat in 2023

क्रिकेटवॉच का ग्रुप अभी ज्वाइन करें
Join Now
क्रिकेटवॉच का ग्रुप ज्वाइन करें
Join Now

जैसा कि हम सब जानते हैं की, हम उस देश में रहते हैं जहां क्रिकेट नाम का भी एक धर्म है जो बड़े छोटे, अमीर गरीब , सारे मतभेदों को चुटकी में मिटाने की ताकत रखता है । क्रिकेट को खेलने के लिए सबसे महत्वपूर्ण साधनों में से एक है बैट, हर नए खिलाड़ी के लिए जो सबसे महत्वपूर्ण सवाल होता है वो है की वो अपने लिए एक परफेक्ट बैट कैसे चुने तो आज इस आर्टिकल में हम उन पहलुओं को जानने का प्रयास करेंगे जिससे की हम अपने लिए एक एक परफेक्ट बैट चुन सकें।

हम बचपन से ही सदी के महानतम बल्लेबाजों जैसे सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण इत्यादि को देख के बड़े हुए हैं, और आज विराट कोहली, रोहित शर्मा, सूर्यकुमार यादव, शुभमन गिल से लेकर मिथाली राज, हरमनप्रीत कौर, शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना तक सब के सब बेहतरीन बल्लेबाजों से भरी हुई हमारी भारतीय टीम जब मैदान पे उतरती है तो हमारी ही नही पूरे विश्व के क्रिकेट प्रेमियों को नजरें मैदान और टेलीविजन पे ठहर सी जाती हैं ।

अपने लिए एक परफेक्ट बैट कैसे चुने :

बैट की साइज कितनी होनी चाहिए| What should be the Shape and Size of the Bat

बैट का चयन करते वक्त सबसे पहले जिस बात का खयाल रखना होता है वो है, आपके बैट की साइज(size of the Bat) । एक सही साइज का बैट उसे मना जाता है जिसे हाथ में लेकर आप खुद को आरामदायक और संतुलित महसूस करें , ऐसा न हो की आपको अत्यधिक झुक कर या फिर अत्यधिक खड़े होकर आपको खेलना पड़े ऐसा होने से आप जल्द ही थक जायेंगे और आपके स्ट्रोक खेलने में भी समस्या आएगी, इसलिए सही साइज का चयन बहुत जरूरी हो जाता है।

बैट अलग अलग साइज में मिलते है, और आपको अपने हिसाब से सही बैट का चयन करना चाहिए । बल्ले की साइज बल्ले के ब्लेड और सामने के फेस से मापी जाती है, ब्लेड की लंबाई 22-24 इंच के बीच होनी चाहिए, और चौड़ाई 4.25 इंच से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। साथ ही बल्ले की कुल लंबाई उसके हैंडल के साथ 38 इंच से ज्यादा नहीं होनी चाहिए ।

सामान्यतः, बैट का साइज, अगर आप बैट को अपने साथ सटाकर रखें तो कमर से थोड़ा नीचे ही होना चाहिए ।
उदाहरण के लिए आप ये तस्वीर देख सकते हैं।

अपने लिए एक परफेक्ट बैट कैसे चुने
COLOMBO, SRI LANKA – MARCH 25: The bat of Darren Lehmann of Australia rests against the stumps during the drinks break in the same way his late friend and former Australian batsman David Hookes left his bat during breaks in play during day two of the Third Test between Australia and Sri Lanka played at the Singhalese Sports Club on March 25, 2004 in Colombo, Sri Lanka. (Photo by Hamish Blair/Getty Images)

बैट का वजन कैसा होना चाहिए | How Should be the Weight of the Bat

बैट के चयन के वक्त बल्ले के वजन का भी खयाल रखना बेहद ही जरूरी है क्योंकि इससे आपके खेल पर बहुत फर्क पड़ता है, यदि बल्ला ज्यादा भरी हुआ तो आप उससे बेहतर तरीके से सम्हाल नही पाएंगे जिससे आप गलत शॉट खेल के आउट हो सकते हैं या फिर आप खुद को चोटिल भी कर सकते हैं, और यदि बल्ला हल्का हुआ तो भी आप यह अनुमान नहीं लगा पाएंगे की शॉट के पीछे कितनी ताकत लगानी है, जिससे आपका संतुलन बिगड़ जायेगा और आप बेहतर प्रदर्शन से दूर रह जायेंगे । हल्के बैट से लंबे शॉट्स लगाना भी बहुत मुश्किल होता है ।

इसलिए बल्ले का चयन करते वक्त उसके वजन को ध्यान में जरूर रखना चाहिए इसके लिए खिलाड़ी को खुद की क्षमता के अनुसार की वो कितने वजन के बल्ले के साथ सहज महसूस कर रहा है ,और उसे ज्यादा लंबी पारी खेलने में भी कोई समस्या नहीं होगी इसका विशेष ध्यान रखना चाहिए ।

बैट किस विलो का लें | Which willow bat to be bought

ये प्रश्न हर एक नए खिलाड़ी के दिमाग में जरूर आता है, तो चलिए आज हम इस संशय को दूर किए देते हैं, ये तो सत्य है कि आपके प्रदर्शन पे इसका काफी असर पड़ता है । इसीलिए बड़े खिलाड़ी इस बात का बेहद खयाल भी रखते हैं।

इंग्लिश विलो (English Willow) को बल्ले के निर्माण के लिए सबसे बेहतरीन लकड़ी माना जाता है क्योंकि ये मजबूत होने के साथ साथ लचीले और ज्यादा समय तक अच्छा प्रदर्शन करते हैं।
ये एक बहुत ही अच्छी गुणवक्ता वाली लकड़ी होती है जो की अपने बेहतरीन शॉक शोखने (Shock absorption) और ज्यादा पावर जेनरेट करने के लिए जानी जाती है । अगर आप लंबे समय तक अपने बल्ले का साथ चाहते हैं तो ये आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है ।

कश्मीर विलो (Kashmir Willow) , जैसा कि नाम से ही आप समझ सकते हैं को इसकी लकड़ियां कश्मीर से आती हैं, और ये एक इंग्लिश विलो से सस्ता होता है, लेकिन ये इंग्लिश विलो जितना लंबी अवधि तक इस्तेमाल नहीं किया जा सकता और इसका प्रदर्शन भी इंग्लिश विलो से कमतर माना जाता है लेकिन अगर आप अभी शुरुआत ही कर रहे हो तो ये आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है, क्योंकि आपको कम मूल्य में अच्छा बैट मिल जायेगा।

बल्ले की ग्रेन कैसी होनी चाहिए | How should be the grain of the Bat

इसके बाद जिस बात का खयाल रखना होता है वो है , को बैट कितने ग्रेंस का है, ग्रेंस आपके बल्ले पर प्राकृतिक रूप से बनी वो संरचना होती है जो पेड़ के बड़े होने के समय ही उसमे बन जाती है, और ये जितने ही सीधे और निरंतर होंगे, लकड़ी उतनी ही अच्छी होगी जिससे आपका बल्ला भी उतना ही अच्छा होगा ।
आपको कभी भी काम से काम 6-8 सीधे ग्रेंस वाले बल्ले का चयन करना चाहिए , कम ग्रेंस वाले बल्ले आपको कम मूल्य पर मिल तो जायेंगे लेकिन उनका प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहता है।

बैट की प्रोफाइल कैसी होनी चाहिए | How should be the profile of the Bat

आपके बल्ले का आकार भी आपके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकता है। बड़े स्वीट स्पॉट और लोअर मिडिल वाला बल्ला आम तौर पर आक्रामक शॉट्स लगाने के लिए बेहतर माना जाता है, जबकि रक्षात्मक शॉट्स के लिए एक उच्च मध्य और छोटे स्वीट स्पॉट वाले बल्ले को बेहतर मानते हैं। बल्ले का प्रोफाइल आपकी खेल शैली और व्यक्तिगत पसंद के अनुरूप ही होना चाहिए।

बल्ले का प्रोफाइल बल्ले के आकार को दर्शाता है। पारंपरिक या पूर्ण प्रोफ़ाइल और लो या निम्न प्रोफ़ाइल सहित कई प्रकार के बैट प्रोफ़ाइल होते हैं। पारंपरिक प्रोफ़ाइल सबसे आम है और इसमें एक पूर्ण पीठ, एक संकीर्ण ब्लेड और एक उच्च रीढ़ है। फुल प्रोफाइल में फुलर बैक और चौड़ा ब्लेड होता है, जिससे गेंद को हिट करना आसान हो जाता है।

लो अथवा निम्न प्रोफाइल में एक छोटा बैक और एक चौड़ा ब्लेड होता है, जिसे नियंत्रित करना आसान होता है।

इसे भी पढ़ें : स्मृति मंधाना जीवन परिचय,नेट आय, हाइट,उम्र और उपलब्धियां

बल्ले का हैंडल कैसा होना चाहिए | How should be the handle of the Bat

बल्ले का चयन करते वक्त ,बल्ले के हैंडल का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है, क्योंकि ये आपकी पकड़, सहजता और नियंत्रण को प्रभावित कर सकता है। हैंडल पकड़ने में आरामदायक होना चाहिए और आपको अच्छी पकड़ प्रदान करने वाला होना चाहिए। हैंडल विभिन्न सामग्रियों से बना हो सकता है, जिसमें बेंत, रबर और मिश्रित सामग्री शामिल हैं।

बेंत के हैंडल सबसे पारंपरिक हैं और आपको प्राकृतिक अनुभव प्रदान करते हैं। रबर के हैंडल अधिक आरामदायक होते हैं और बेहतर शॉक अब्सोर्पशन प्रदान करते हैं। बेहतर प्रदर्शन करने के लिए बल्ले के हैंडल को ठीक से फिट किया जाना चाहिए और ब्लेड से अच्छी तरह से जोड़ा जाना चाहिए।

ब्रैंड | Brand

क्रिकेट के बल्ले का ब्रांड भी इसकी गुणवत्ता और प्रदर्शन को प्रभावित कर सकता है। ग्रे-निकोलस, कूकाबुरा, गुन एंड मूर और न्यू बैलेंस सहित कई ब्रांड उच्च गुणवत्ता वाले क्रिकेट बैट बनाने के लिए प्रसिद्ध हैं। इन ब्रांडों ने बेहतरीन बल्ले बनाने में महारत हासिल कर रखी है ।

आपको भी बल्ले के चयन से पहले कुछ ब्रांड्स के बारे में जानकारी लेनी चाहिए, ताकि आप अपने लिए सबसे बेहतर विकल्प का चयन कर सके, और बाद में आपको पछताना न पड़े ।

एक अच्छी गुणवक्ता वाला बल्ला आपको थोड़ा महंगा जरूर लग सकता है लेकिन ये लंबे समय तक आपका साथ देगा और आपको बेहतरीन प्रदर्शन करने का आत्मविश्वास भी देगा ।

कीमत|Price

क्रिकेट के बल्ले का चयन करते समय बल्ले की कीमत भी एक महत्वपूर्ण विषय होता है। बैट की कीमत सस्ती से लेकर महंगी तक होती है, और कीमत अक्सर बल्ले की गुणवत्ता के अनुरूप ही होती है । बजट निर्धारित करना और उस मूल्य में सबसे बेहतर बैट का चयन करना सबसे ज्यादा जरूरी है।

नॉकिंग|Knocking

एक बार आप अपने लिए अच्छा बल्ला खरीद लेते है तो उसके बाद , बल्ले को उपयोग में लाने से पहले करने से पहले उसकी नॉकिंग करना बहुत जरूरी है। इसमें लकड़ी के तंतुओं (fibers) को कंप्रेस करने और इसे अधिक टिकाऊ बनाने के लिए बल्ले को धीरे धीरे एक मैलेट या एक विशेष नॉकिंग-इन टूल से मारा जाता है।

नॉकिंग-इन में कई घंटे लग सकते हैं और बल्ले को नुकसान से बचाने के लिए इसे धीरे-धीरे किया जाना चाहिए। अधिकांश क्रिकेट बैट पहले से नॉकिंग किए हुए आते हैं, लेकिन फिर भी यह जांचना और सुनिश्चित करना जरूरी है कि बल्ला खेलने से पहले उपयोग के लिए तैयार हो।

रखरखाव | Maintenance

अपने बल्ले को लंबी उम्र और प्रदर्शन सुनिश्चित करने के लिए आपको अपने बल्ले की देखभाल करना आवश्यक है। बल्ले को उपयोग के बाद, मॉइश्चर की कमी को रोकने के लिए एक नम कपड़े से पोंछना चाहिए और उसके बाद इसे अच्छे से सुखा लेना चाहिए। अगर कभी आपका बल्ला गीला हो जाता है, तो उसे तुरंत सुखा लेना चाहिए ताकि वह फटने या टूटने से बच सके।

अपने बल्ले को लचीला बनाए रखने और टूटने से बचाने के लिए नियमित रूप से तेल लगाना भी आवश्यक है। आपको तेल एक पतली परत में लगाना चाहिए, इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बल्ले पर ज्यादा तेल न लगे।

डैमेज को रोकने के लिए बैट को सही तरीके से स्टोर करना भी जरूरी है। आपको अपने बल्ले को सीधे धूप या नमी से दूर, ठंडी, सूखी जगह पर रखना चाहिए। अगर आप अपने बैट में कवर लगा ले तो ये सबसे बेहतर होगा इससे आप बल्ले को सुरक्षित रख पाएंगे ।

निष्कर्ष | Conclusion

आशा करता हूं की इस पोस्ट से आपको अपने लिए एक बेहतरीन बल्ले का चयन करने में आसानी होगी

FAQs

प्रश्न: क्रिकेट के बल्ले का सबसे अच्छा आकार क्या है?
ए: क्रिकेट के बल्ले का सबसे अच्छा आकार खिलाड़ी की ऊंचाई और उम्र पर निर्भर करता है। एक सामान्य नियम के रूप में, वयस्क खिलाड़ियों को 32 और 38 इंच की लंबाई के बीच एक बल्ला चुनना चाहिए, जबकि जूनियर खिलाड़ियों को 25 और 32 इंच की लंबाई के बीच एक बल्ला चुनना चाहिए।

प्रश्न: इंग्लिश विलो और कश्मीर विलो में क्या अंतर है?
उ: उच्च स्तर के प्रदर्शन, हल्केपन और स्थायित्व के कारण इंग्लिश विलो को क्रिकेट के बल्ले के लिए सबसे अच्छी लकड़ी माना जाता है। कश्मीर विलो एक सस्ता विकल्प है जो भारी है और उतना टिकाऊ नहीं है, लेकिन फिर भी शुरुआती या मनोरंजक खिलाड़ियों के लिए अच्छा प्रदर्शन प्रदान कर सकता है।

प्रश्न: क्रिकेट के बल्ले के लिए एक अच्छी ग्रेन संरचना क्या है?

ए: क्रिकेट के बल्ले के लिए एक अच्छी अनाज संरचना वह है जो सीधी, सम और निकट दूरी पर हो। एक बल्ले पर दानों की संख्या अलग-अलग हो सकती है, लेकिन अधिक दाने जरूरी नहीं कि बेहतर गुणवत्ता वाले बल्ले का संकेत दें।

प्रश्न: क्या मुझे मोटे या पतले हैंडल वाला बल्ला चुनना चाहिए?

ए: हैंडल की मोटाई एक व्यक्तिगत प्राथमिकता है और यह खिलाड़ी के हाथ के आकार और पकड़ शैली पर निर्भर कर सकती है। मोटा हैंडल अधिक शक्ति और नियंत्रण प्रदान कर सकता है, जबकि पतले हैंडल अधिक लचीलापन और उपयोग में आसानी प्रदान कर सकते हैं।

प्रश्न: मुझे कैसे पता चलेगा कि मेरा बल्ला इस्तेमाल के लिए तैयार है?
उ: क्रिकेट के बल्ले का उपयोग करने से पहले, खिलाड़ियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यह ठीक से खटखटाया गया है और तेल लगाया गया है। बल्ला किसी भी डेंट, दरार या क्षति से मुक्त होना चाहिए और इसे पकड़ने और उपयोग करने में सहज महसूस होना चाहिए।

प्रश्न: मैं कब तक अपने क्रिकेट बैट के चलने की उम्मीद कर सकता हूं?
ए: क्रिकेट के बल्ले का जीवनकाल लकड़ी की गुणवत्ता और उपयोग और रखरखाव के स्तर के आधार पर अलग-अलग हो सकता है। उचित देखभाल और रखरखाव के साथ, एक अच्छी गुणवत्ता वाला बल्ला कई मौसमों या वर्षों तक चल सकता है।

क्रिकेटवॉच का ग्रुप ज्वाइन करें
Join Now
अभिषेक कुमार
अभिषेक कुमारhttps://cricketwatch.co.in
नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम अभिषेक कुमार है और मैं बचपन से ही क्रिकेट के तरफ काफी आकर्षित रहा हूँ और उसी पैशन को मैं इस वेबसाइट के माध्यम से आप सभी तक पहुँचाने का प्रयास कर रहा हूँ। आशा करता हूँ की आपको मेरे वेबसाइट पे उपयोगी, रोचक और बेहतरीन जानकारियां मिली होंगी।cricketwatch | क्रिकेटवॉच

Related Articles

गूगल न्यूज पे हमें फॉलो करें spot_img

हॉट पिक्स

Latest Articles

exchmarket